3 ऐसे लोग जिन पर जन्नत हराम कर दी गयी है, जाने कौन है वो तीन लोग और कैसे बचे….

0
140

दोस्तों आज की ये पोस्ट 3 ऐसे लोगो के बारे में जिन पर अल्लाह सुबहानहू ने जन्नत हराम कर दी है . इन 3 में लोगो सबसे पहले आते है लोग जो कि शराब के आदि होते है . दोस्तों शराब इस्लाम में गुनाह कबीरा है यानी बड़े गुनाहों में से एक गुनाह, इसलिए शराब हराम है . वैसे तो आज की दुनिया में आप भी देख रहे है शराब के नुक्सानात, लोग होश खो कर बुरे बुरे काम को अंजाम देते है . बार बार सख्त हिदायत दी जाती है कि शराब पी कर गाडी ना चलाये . खैर दोस्तों ३ ऐसे लोग जिन पर जन्नत हराम कर दी गयी है उनमे से एक शराब का आदि होना भी है .




3 लोगो में दुसरे ऐसे लोग है जो वाल्देन (माँ बाप) की नाफ़रमानी करते है. दोस्तों आज की दुनिया में ये बात अक्सर देखने को मिलती है कि लोग अपने माँ बाप की इज्ज़त नहीं करते है . जैसे ही हम जवान होते है माँ बाप को झिड़कना शुरू कर देते है . उन पर गुस्सा भी होते है . उन पर चिल्लाते है बाज़ जगह तो माँ बाप पर हाथ उठाने का भी वाकया भी सुनने में आया. बूढ़े माँ बाप का ख्याल ना रखना, उनकी ज़रुरत को पूरा न करना ये सब चीजें एक अज़ीम गुनाह है . जो शख्स अपने माँ बाप की नाफ़रमानी करेगा उस पर जन्नत हराम कर दी गयी है .




3 ऐसे लोगो में तीसरे ऐसे लोग है जो अपने घर के अन्दर की बेहयाईयों को नहीं रोकते. दोस्तों आज की दुनिया में ये भी देखने को मिलता है अगर कोई शख्स खुद की फ़िक्र करता है और अल्लाह वाला बनना चाहता है तो उस पर ये भी ज़रूरी कि वो अपने घर के अन्दर हो रही बेहयाई और बुराइयों को रोके. उसकी औलाद उसके माँ बाप उसके भाई बहन अगर किसी तरह की बुराइयों में मुलव्विस हैं तो उन्हें रोके और भलाई की बात सिखाएं बुराइयों से रोके. इस बात का एक मतलब ये भी हो सकता है कि लोग दूसरो पर उँगलियाँ उठाते है लेकिन अपने घर की बुराइयों पर उनकी नार नहीं जाती. लिहाज़ा कहने का यही मतलब की खुद भी आखिरत की फ़िक्र करें और घर वालो में भी जगाएं और दूसरो के लिए दुआ भी करें .



दोस्तों ये थे तीन ऐसे लोग जिन पर जन्नत हरम करदी गयी है . नीचे देखें हदीस :

रसूल-अल्लाह सलअल्लाहु अलैही वसल्लम ने फरमाया ने फरमाया तीन तरह के लोगों पर अल्लाह सुबहानहु ने जन्नत हराम कर दी है शराब का आदि, वालदेन ( माँ बाप ) का नाफरमान और वो दययूस जो अपने घर के अंदर बेहयाई को नही रोकता है
मसनद अहमद-9975-सही .

नोट : दोस्तों हमें और आपको अल्लाह सुबहानहु से दुआ करना चाहिए कि ऐ अल्लाह हमें ऐसे लोगो में शामिल ना कर , हमें इन अज़ीम गुनाहों से महफूज़ रख, हमें माँ बाप की खिदमत करने वाला बना . आमीन .

Loading…

loading…



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here